Uttarakhand Weather Updates: Rainfall And Hailstorm Today – Uttarakhand Weather: झमाझम बारिश और ओलावृष्टि से हुआ ठंड का एहसास, बागेश्वर में गिरी बिजली

0
111


ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

उत्तराखंड में आज सुबह से ही मौसम ने करवट बदली। राजधानी देहरादून, नैनीताल और मसूरी समेत प्रदेश भर में झमाझम बारिश ने लोगों को ठंड का एहसास करा दिया। वहीं, कई पहाड़ी इलाकों में ओलावृष्टि भी हुई।  पहाड़ों की रानी मसूरी में  भी तेज बारिश और ठंडी हवाओं के कारण तापमान में काफी गिरावट आई है। सरोवर नगरी नैनीताल में सुबह से ही झमाझम बारिश ने ठंड बढ़ा दी। वहीं, दूसरी ओर डीएसए मैदान में बारिश का पानी भरने से सब्जी व्यापारियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। व्यापारियों का कहना था कि प्रशासन ने पानी न भरे इसके लिए कोई इंतजाम नहीं किए हैं। बारिश में हरी सब्जियां भी खराब हो गई हैं।वहीं, शनिवार की देर रात बागेश्वर के देवलचौरा, बालीघाट में बिजली गिरने से विद्युत उपकरण फुंक गए। वहीं, लोगों के घरों में बिजली की लाइनें और उपकरण जल गए। बिजली की लाइन पर पेड़ गिरने से कपकोट के सरयू, कनलगढ़, रेवती, पिंडर घाटी के 215 गांवों में बिजली आपूर्ति ठप हो गई है। वहीं, बारिश से गेहूं समेत अन्य फसलों को भी नुकसान हुआ है।वहीं, काशीपुर, जसपुर, रानीखेत, हलद्वानी, अल्मोड़ा, हरिद्वार, रुड़की में भी सुबह से ही बारिश हो रही है। बारिश के कारण मैदानी इलाकों में भी ठंडी हवाएं चलने से लोगों को उमस से राहत मिली।
मौसम विभाग ने 26 अप्रैल को प्रदेश के कई इलाकों में बारिश का अनुमान जताया था। मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि पहाड़ी क्षेत्रों में बिजली गिरने और मैदानी क्षेत्रों में तेज हवा चलने का भी अनुमान है।ऊधमसिंह नगर, हरिद्वार, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग और अलमोड़ा में तेज हवाओं के साथ हल्की बारिश की संभावना जताई है। वहीं, नैनीताल, पौड़ी, देहरादून और टिहरी में तेज ओलावृष्टि और बारिश की चेतावनी भी दी है।

उत्तराखंड में आज सुबह से ही मौसम ने करवट बदली। राजधानी देहरादून, नैनीताल और मसूरी समेत प्रदेश भर में झमाझम बारिश ने लोगों को ठंड का एहसास करा दिया। वहीं, कई पहाड़ी इलाकों में ओलावृष्टि भी हुई।  

पहाड़ों की रानी मसूरी में  भी तेज बारिश और ठंडी हवाओं के कारण तापमान में काफी गिरावट आई है। सरोवर नगरी नैनीताल में सुबह से ही झमाझम बारिश ने ठंड बढ़ा दी। वहीं, दूसरी ओर डीएसए मैदान में बारिश का पानी भरने से सब्जी व्यापारियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। व्यापारियों का कहना था कि प्रशासन ने पानी न भरे इसके लिए कोई इंतजाम नहीं किए हैं। बारिश में हरी सब्जियां भी खराब हो गई हैं।वहीं, शनिवार की देर रात बागेश्वर के देवलचौरा, बालीघाट में बिजली गिरने से विद्युत उपकरण फुंक गए। वहीं, लोगों के घरों में बिजली की लाइनें और उपकरण जल गए। बिजली की लाइन पर पेड़ गिरने से कपकोट के सरयू, कनलगढ़, रेवती, पिंडर घाटी के 215 गांवों में बिजली आपूर्ति ठप हो गई है। वहीं, बारिश से गेहूं समेत अन्य फसलों को भी नुकसान हुआ है।वहीं, काशीपुर, जसपुर, रानीखेत, हलद्वानी, अल्मोड़ा, हरिद्वार, रुड़की में भी सुबह से ही बारिश हो रही है। बारिश के कारण मैदानी इलाकों में भी ठंडी हवाएं चलने से लोगों को उमस से राहत मिली।

चार जिलों में ओलावृष्टि की चेतावनी

मौसम विभाग ने 26 अप्रैल को प्रदेश के कई इलाकों में बारिश का अनुमान जताया था। मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि पहाड़ी क्षेत्रों में बिजली गिरने और मैदानी क्षेत्रों में तेज हवा चलने का भी अनुमान है।ऊधमसिंह नगर, हरिद्वार, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग और अलमोड़ा में तेज हवाओं के साथ हल्की बारिश की संभावना जताई है। वहीं, नैनीताल, पौड़ी, देहरादून और टिहरी में तेज ओलावृष्टि और बारिश की चेतावनी भी दी है।

आगे पढ़ें

चार जिलों में ओलावृष्टि की चेतावनी



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here