Uttarakhand Weather: Monsoon 2020 Will Reach Late By One Week, Hot Weather Increases From 21st May – Uttarakhand Weather: प्रदेश में एक हफ्ते देरी से पहुंचेगा मानसून, 21 मई से गर्मी बढ़ने के आसार

0
66


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून
Updated Sun, 17 May 2020 10:31 AM IST

मानसून की बारिश
– फोटो : फाइल फोटो

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

इस साल मानसून उत्तराखंड पहुंचने में एक सप्ताह पिछड़ सकता है। केंद्रीय मौसम विभाग ने एक दिन पहले ही मानसून के केरल पहुंचने में पांच दिन की देरी होने का अनुमान जताया है। ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा है कि मानसून 27 जून के आसपास उत्तराखंड पहुंच सकता है।सामान्य तौर पर मानसून एक जून को केरल के रास्ते भारत पहुंचता है। मौसम विभाग के अनुसार इस साल पांच जून के आसपास मानसून के देश में दस्तक देने का अनुमान है। सिस्टम सामान्य रहने पर उत्तराखंड से केरल पहुंचने में मानसून 21 दिन का समय लेता है। ऐसे में पांच जूून को केरल पहुंचने वाला सिस्टम उत्तराखंड में भी पांच दिन पिछड़ जाएगा।इसके अलावा देश में कही भी सिस्टम कमजोर पड़ते ही मानसून की रफ्तार धीमी पड़ जाती है। मौसम विज्ञानियों के अनुसार कुल मिलाकर उत्तराखंड में छह से सात दिन की देरी से मानसून के पहुंचने का अनुमान है। हालांकि उत्तराखंड समेत देश के ज्यादातर क्षेत्रों में इस वर्ष मानसून सामान्य रहने की उम्मीद जताई गई है।
प्रदेश में 21 मई के बाद गर्मी बढ़ने के आसार हैं। मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार अभी अधिकतम और न्यूनतम तापमान सामान्य के आसपास बने हुए हैं। अगले कुछ दिन तक ज्यादातर स्थानों पर मौसम सामान्य रहने की उम्मीद है।इससे अधिकतम और न्यूनतम तापमान में बढ़ोत्तरी होगी। 21 मई के बाद अधिकतम और न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन से चार डिग्री तक अधिक हो सकता है। इससे दिन के साथ रात की गर्मी भी बढ़ जाएगी।
राजधानी दून और आसपास के इलाकों में शनिवार 2020 का अब तक का सबसे गर्म दिन रहा। राजधानी दून में अधिकतम तापमान 36 डिग्री के पार हो गया। इस साल अब तक केवल दो बार तापमान 35 डिग्री से ज्यादा हुआ है। अगले कुछ दिनों में राजधानी समेत प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में तापमान में और इजाफा हो सकता है।उत्तराखंड में पिछले हफ्तों के दौरान गाहे-बगाहे होने वाली बारिश के चलते तापमान सामान्य के आसपास ही बना हुआ था। अप्रैल माह में तापमान काफी कम रहा। मई के शुरूआती पखवाड़े में भी तापमान कम रहे लेकिन पिछले दो दिनों से इसमें अच्छा खासा उछाल आया है।शुक्रवार को पहली बार अधिकतम तापमान 35 डिग्री के पार हुआ था। शनिवार को यह 36 डिग्री से भी ऊपर पहुंच गया। मौसम केंद्र के अनुसार यह अब तक वर्ष 2020 का सबसे गर्म दिन रहा।  दिन में तेज धूप खिली रहने से लोगों को गर्मी और उमस से जूझना पड़ा। दोपहर के समय गर्म हवाएं चलने से लोगों को ज्यादा परेशानी हुई।

सार
केरल पहुंचने में पांच दिन की देरी होने का अनुमान, 27 के आसपास पहुंचेगा
2020 का अब तक का सबसे गर्म दिन रहा शनिवार
देहरादून में इस माह दूसरी बार 35 के पार हुआ पारा

विस्तार
इस साल मानसून उत्तराखंड पहुंचने में एक सप्ताह पिछड़ सकता है। केंद्रीय मौसम विभाग ने एक दिन पहले ही मानसून के केरल पहुंचने में पांच दिन की देरी होने का अनुमान जताया है। ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा है कि मानसून 27 जून के आसपास उत्तराखंड पहुंच सकता है।

सामान्य तौर पर मानसून एक जून को केरल के रास्ते भारत पहुंचता है। मौसम विभाग के अनुसार इस साल पांच जून के आसपास मानसून के देश में दस्तक देने का अनुमान है। सिस्टम सामान्य रहने पर उत्तराखंड से केरल पहुंचने में मानसून 21 दिन का समय लेता है। ऐसे में पांच जूून को केरल पहुंचने वाला सिस्टम उत्तराखंड में भी पांच दिन पिछड़ जाएगा।

इसके अलावा देश में कही भी सिस्टम कमजोर पड़ते ही मानसून की रफ्तार धीमी पड़ जाती है। मौसम विज्ञानियों के अनुसार कुल मिलाकर उत्तराखंड में छह से सात दिन की देरी से मानसून के पहुंचने का अनुमान है। हालांकि उत्तराखंड समेत देश के ज्यादातर क्षेत्रों में इस वर्ष मानसून सामान्य रहने की उम्मीद जताई गई है।

21 मई से गर्मी बढ़ने के आसार

प्रदेश में 21 मई के बाद गर्मी बढ़ने के आसार हैं। मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार अभी अधिकतम और न्यूनतम तापमान सामान्य के आसपास बने हुए हैं। अगले कुछ दिन तक ज्यादातर स्थानों पर मौसम सामान्य रहने की उम्मीद है।इससे अधिकतम और न्यूनतम तापमान में बढ़ोत्तरी होगी। 21 मई के बाद अधिकतम और न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन से चार डिग्री तक अधिक हो सकता है। इससे दिन के साथ रात की गर्मी भी बढ़ जाएगी।

2020 का अब तक का सबसे गर्म दिन रहा शनिवार

राजधानी दून और आसपास के इलाकों में शनिवार 2020 का अब तक का सबसे गर्म दिन रहा। राजधानी दून में अधिकतम तापमान 36 डिग्री के पार हो गया। इस साल अब तक केवल दो बार तापमान 35 डिग्री से ज्यादा हुआ है। अगले कुछ दिनों में राजधानी समेत प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में तापमान में और इजाफा हो सकता है।उत्तराखंड में पिछले हफ्तों के दौरान गाहे-बगाहे होने वाली बारिश के चलते तापमान सामान्य के आसपास ही बना हुआ था। अप्रैल माह में तापमान काफी कम रहा। मई के शुरूआती पखवाड़े में भी तापमान कम रहे लेकिन पिछले दो दिनों से इसमें अच्छा खासा उछाल आया है।शुक्रवार को पहली बार अधिकतम तापमान 35 डिग्री के पार हुआ था। शनिवार को यह 36 डिग्री से भी ऊपर पहुंच गया। मौसम केंद्र के अनुसार यह अब तक वर्ष 2020 का सबसे गर्म दिन रहा।  दिन में तेज धूप खिली रहने से लोगों को गर्मी और उमस से जूझना पड़ा। दोपहर के समय गर्म हवाएं चलने से लोगों को ज्यादा परेशानी हुई।

आगे पढ़ें

21 मई से गर्मी बढ़ने के आसार



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here