Uttarakhand News: Mla Umesh Sharma Kau And Other Bjp Leader Organize Separate Program On Igas – चुनाव 2022 : देहरादून में चरम पर भैलो की राजनीति, विधायक के आयोजन से इतर भाजपाई ने तय किया अपना कार्यक्रम

0
7


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून
Published by: Nirmala Suyal Nirmala Suyal
Updated Sun, 14 Nov 2021 12:32 PM IST

सार
विधायक उमेश शर्मा ने रविवार शाम को भाजपा प्रदेश कार्यालय की प्रस्तावित भूमि पर इगास और भैलो कार्यक्रम आयोजित किया है वहीं, दूसरे गुट के भाजपाईयों ने भी दूसरी जगह इगास कार्यक्रम का आयोजन किया है। 

रायपुर विधायक उमेश शर्मा
– फोटो : फाइल फोटो

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

देहरादून के रायपुर विधानसभा क्षेत्र में इगास के बहाने एक बार फिर भाजपाईयों के बीच चल रहा विवाद सतह पर आ गया है। विधायक उमेश शर्मा ने रविवार शाम को भाजपा प्रदेश कार्यालय की प्रस्तावित भूमि पर इगास और भैलो कार्यक्रम आयोजित किया है वहीं, दूसरे गुट के भाजपाईयों ने भी दूसरी जगह इगास कार्यक्रम का आयोजन किया है।  
उमेश शर्मा और भाजपाईयों के बीच शीत युद्ध
रायपुर में विधायक उमेश शर्मा और भाजपाईयों के बीच शीत युद्ध चल रहा है। उमेश शर्मा और दूसरे गुट से जुड़े भाजपाई एक-दूसरे के कार्यक्रम में विघ्न ड़ालने के लिए लगातार आयोजन कर रहे हैं। अब इगास और भैलो कार्यक्रम भी आयोजित किया जा रहा है। विधायक काऊ की ओर से  रिंग रोड स्थित भाजपा मुख्यालय की प्रस्तावित भूमि पर कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। वहीं, दूसरे गुट ने नेहरू कॉलोनी में कार्यक्रम आयोजित किया है। पूर्व मंडी समिति अध्यक्ष राजेश शर्मा, रणजीत भंडारी समेत कई अन्य भाजपाई इस कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे। इगास पर्व: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दी बधाई, जुबिन नौटियाल ने सोशल मीडिया पर गाया गीतविधायक काऊ ने कहा कि उन्होंने बड़े स्तर पर आयोजन किया है, जिसमें राज्यपाल, मुख्यमंत्री धामी, सांसद अनिल बलूनी समेत कई अन्य लोग शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि इगास आयोजन और भैलो खेलने को लोक जीवन से जोड़ने की पहल उन्होंने की थी, जिससे आज पूरे प्रदेश के लोग जुड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम अपनी आने वाली पीढ़ियों को राज्य की लोक संस्कृति और परंपराओं से परिचित कराएंगे।विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने खेला भैलोविधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कार्यकर्ताओं के साथ ऋषिकेश में बैराज स्थित कैंप कार्यालय में भैलो खेला। इस दौरान उन्होंने संस्कृति के संरक्षण का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि यह पर्व हमारे पूर्वजों की धरोहर व पर्वतीय सांस्कृतिक विरासत है। हमें अपने लोकपर्वों और संस्कृति को संरक्षित रखने की आवश्यकता है। अग्रवाल ने कहा कि इगास पर्व पर भैलो खेलने की परंपरा है। भैलो को अंधेरे में उजाले का प्रतीक माना जाता है। इस अवसर पर ग्राम प्रधान सोबन सिंह कैंतुरा, रविंद्र राणा, प्रधान चमन पोखरियाल, दिनेश पयाल, विजय जुगरान, विजय बिष्ट, अरुण बडोनी, राजेंद्र पांडे, विजेंद्र मोघा, राजवीर रावत आदि थे। संवाद 

विस्तार

देहरादून के रायपुर विधानसभा क्षेत्र में इगास के बहाने एक बार फिर भाजपाईयों के बीच चल रहा विवाद सतह पर आ गया है। विधायक उमेश शर्मा ने रविवार शाम को भाजपा प्रदेश कार्यालय की प्रस्तावित भूमि पर इगास और भैलो कार्यक्रम आयोजित किया है वहीं, दूसरे गुट के भाजपाईयों ने भी दूसरी जगह इगास कार्यक्रम का आयोजन किया है। 

 
उमेश शर्मा और भाजपाईयों के बीच शीत युद्ध

रायपुर में विधायक उमेश शर्मा और भाजपाईयों के बीच शीत युद्ध चल रहा है। उमेश शर्मा और दूसरे गुट से जुड़े भाजपाई एक-दूसरे के कार्यक्रम में विघ्न ड़ालने के लिए लगातार आयोजन कर रहे हैं। अब इगास और भैलो कार्यक्रम भी आयोजित किया जा रहा है। विधायक काऊ की ओर से  रिंग रोड स्थित भाजपा मुख्यालय की प्रस्तावित भूमि पर कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। वहीं, दूसरे गुट ने नेहरू कॉलोनी में कार्यक्रम आयोजित किया है। पूर्व मंडी समिति अध्यक्ष राजेश शर्मा, रणजीत भंडारी समेत कई अन्य भाजपाई इस कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे। 

इगास पर्व: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दी बधाई, जुबिन नौटियाल ने सोशल मीडिया पर गाया गीत
विधायक काऊ ने कहा कि उन्होंने बड़े स्तर पर आयोजन किया है, जिसमें राज्यपाल, मुख्यमंत्री धामी, सांसद अनिल बलूनी समेत कई अन्य लोग शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि इगास आयोजन और भैलो खेलने को लोक जीवन से जोड़ने की पहल उन्होंने की थी, जिससे आज पूरे प्रदेश के लोग जुड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम अपनी आने वाली पीढ़ियों को राज्य की लोक संस्कृति और परंपराओं से परिचित कराएंगे।
विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने खेला भैलो
विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कार्यकर्ताओं के साथ ऋषिकेश में बैराज स्थित कैंप कार्यालय में भैलो खेला। इस दौरान उन्होंने संस्कृति के संरक्षण का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि यह पर्व हमारे पूर्वजों की धरोहर व पर्वतीय सांस्कृतिक विरासत है। हमें अपने लोकपर्वों और संस्कृति को संरक्षित रखने की आवश्यकता है। अग्रवाल ने कहा कि इगास पर्व पर भैलो खेलने की परंपरा है। भैलो को अंधेरे में उजाले का प्रतीक माना जाता है। इस अवसर पर ग्राम प्रधान सोबन सिंह कैंतुरा, रविंद्र राणा, प्रधान चमन पोखरियाल, दिनेश पयाल, विजय जुगरान, विजय बिष्ट, अरुण बडोनी, राजेंद्र पांडे, विजेंद्र मोघा, राजवीर रावत आदि थे। संवाद 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here