Uttarakhand News: Haridwar Bharat Mata Temple Where With Lords, Martyrs And Patriots Worship Done – उत्तराखंड: यहां भगवान संग पूजे जाते हैं वतन पर जां लुटाने वाले इंसान, तस्वीरों में देखें

0
41


निशांत खनी, अमर उजाला, हरिद्वार Published by: Nirmala Suyal Nirmala Suyal Updated Sun, 19 Sep 2021 12:31 PM IST

हरिद्वार का भारत माता मंदिर धार्मिक आस्था और राष्ट्र प्रेम की जुगलबंदी की अनूठी मिसाल है। यह देश का इकलौता मंदिर है जहां भगवानों के साथ देश पर जां लुटाने वाले शहीदों, देशभक्तों की पूजा होती है। अलबत्ता, यहां कोई कर्मकांड नहीं होता। मंदिर में देवी-देवताओं के साथ संत-महापुरुषों और स्वतंत्रता सेेनानियों के दर्शन होते हैं। मंदिर के द्वार मानवमात्र के लिए खुले हैं। चाहे वह किसी भी जाति या मजहब का हो। आठ मंजिला विशाल मंदिर में देशभर से रोजाना हजारों लोग शिव परिवार, विष्णु अवतार और नवदुर्गा से लेकर महान संतों एवं सेनानियों की प्रतिमाओं के दर्शनों के लिए पहुंचते हैं। समन्वय सेवा ट्रस्ट का अनोखा मंदिर हरिद्वार सप्तसरोवर में बना है। परम हंस परिव्राजकाचार्य निवृत्त जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी सत्यमित्रानंद ने मंदिर का निर्माण ही देश को एकसूत्र में पिरोने, सर्वधर्म संप्रदाय मानव कल्याण, राष्ट्रीय सांस्कृतिक एवं देश के प्रति श्रद्धा एवं भक्ति जागृत करने के मकसद से कराया। मंदिर के ग्राउंड फ्लोर में भारत माता की विशाल प्रतिमा है। आठ मंजिल के मंदिर में प्रत्येक फ्लोर में एक अलग दुनिया है। श्रद्धालु अपने आराध्य देवी-देवताओं, संतों, महापुरुषों, देवियों और स्वतंत्रता सेनानियों के दर्शन कर स्मरण करते हैं। मंदिर की आठवीं मंजिल तक पहुंचने के लिए दो लिफ्ट लगी हैं। लिफ्ट में प्रति व्यक्ति मात्र दो रुपये शुल्क है। आठवीं मंजिल में शिव परिवार के दर्शनों के बाद श्रद्धालु सीढ़ियों से उतरते हुए हर मंजिल पर यादें समेटकर लाते हैं। मंदिर में सांई मंदिर भी है। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here