Uttarakhand Election 2022: Former Chief Minister Vijay Bahuguna Entry Between Party Change Politics – Uttarakhand Election 2022: दलबदल की अटकलों के बीच पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा की एंट्री

0
14



सार
Uttarakhand Election 2022: पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य और उनके विधायक बेटे की कांग्रेस में वापसी के बाद भाजपा में दलबदल की चर्चाएं थम नहीं रहीं हैं। अब कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत और भाजपा विधायक उमेश शर्मा काऊ के कांग्रेस में वापसी की अटकलें तैर रही हैं।

हरक सिंह और विजय बहुगुणा
– फोटो : file photo

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

उत्तराखंड की सियासी हवाओं में तैर रही दलबदल की अटकलों के बीच उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा की देहरादून में एंट्री ने सियासत तेज कर दी। प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद से लगभग नेपथ्य में रहे बहुगुणा दिल्ली से अचानक देहरादून पहुंचे और उन्होंने कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत और सुबोध उनियाल समेत उन सभी नौ लोगों से बात की, जो कांग्रेस से बगावत कर भाजपा में शामिल हुए थे।भाजपा में दलबदल की चर्चाएं थम नहीं रहींपूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य और उनके विधायक बेटे की कांग्रेस में वापसी के बाद भाजपा में दलबदल की चर्चाएं थम नहीं रहीं हैं। अब कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत और भाजपा विधायक उमेश शर्मा काऊ के कांग्रेस में वापसी की अटकलें तैर रही हैं। इन कयासबाजियों से प्रदेश संगठन खासा असहज है। सूत्रों के मुताबिक, पार्टी केंद्रीय नेतृत्व ने इन अटकलों पर पूर्ण विराम लगाने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री बहुगुणा को मैदान में उतारा है। लंबे समय से तकरीबन उपेक्षित रहे बहुगुणा ने अपने साथियों से मुलाकात करने से पहले भाजपा प्रदेश कार्यालय का रुख किया। वहां उन्होंने प्रदेश महामंत्री संगठन अजेय कुमार से मुलाकात की।उत्तराखंड चुनाव 2022: 30 अक्तूबर को देहरादून में जनसभा को संबोधित करेंगे अमित शाह, तैयारी में जुटा संगठन
 
ताजा राजनीतिक घटनाक्रम और चर्चाओं को लेकर दोनों नेताओं के बीच बातचीत हुई। इसके बाद बहुगुणा कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत के घर पहुंचे। इस दौरान कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल भी वहां पहुंचे। बहुगुणा ने कांग्रेस से बगावत कर भाजपा में शामिल हुए सभी विधायकों व नेताओं से बारी-बारी बात की। सूत्रों के मुताबिक, बहुगुणा ने सभी से धैर्यपूर्वक और उत्साह के साथ चुनावी तैयारी में जुटने का आह्वान किया। बकौल बहुगुणा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह देहरादून आ रहे हैं। मैंने उनके दौरे को लेकर संगठन महामंत्री से चर्चा की।
अमर उजाला से बातचीत में बहुगुणा ने कहा कि कुछ गलत भ्रांतियां फैली हैं। न तो कोई नाराज है न ही कोई कहीं जा रहा है। उन्होंने कहा कि पार्टी छोड़ने को लेकर जो चर्चाएं हो रही हैं, वो बे सिर-पैर की कहानी है। उसमें कोई सच्चाई नहीं है।हमने सिद्धांतों पर कांग्रेस का विभाजन कियापूर्व मुख्यमंत्री बहुगुणा ने कहा कि हमने कांग्रेस से विभाजन सिद्धांतों के आधार पर किया था। आज हम सभी साथ हैं और पूरी तरह से समर्पित हैं। बहुगुणा ने कहा कि हमारा आज भी यह मानना है कि उत्तराखंड का हित और विकास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सुरक्षित है। पीएम मोदी का उत्तराखंड से विशेष लगाव है।कहा कि पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य और उनके बेटे के भाजपा छोड़ने के बाद दलबदल की चर्चाओं ने जोर पकड़ा है। पूर्व मुख्यमंत्री ने इस पर कहा कि कांग्रेस में विभाजन करने वाले हम नौ विधायक थे, यशपाल आर्य हमारे साथ नहीं थे। मैं चाहता हूं कि हमारे साथी ज्यादा उत्साहित होकर संगठन और मुख्यमंत्री का साथ देकर चुनाव में विजय प्राप्त करें।- विजय बहुगुणा, पूर्व मुख्यमंत्री, उत्तराखंड
वहीं रामनगर के विधायक दीवान सिंह बिष्ट के बेटे जगमोहन बिष्ट की आखिरकार भाजपा में वापसी हो गई। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मदन कौशिक ने प्रदेश पार्टी कार्यालय में उन्हें पार्टी में शामिल कराया। भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत के कार्यकाल के दौरान बिष्ट की वापसी संगठन के विरोध के चलते नहीं हो पाई थी। अब बिष्ट के अलावा पंचायत चुनाव में बगावत के कारण बाहर किए गए कई जनप्रतिनिधियों की भी पार्टी में वापसी हुई। आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. राकेश काला भी भाजपा में शामिल हो गए।
पार्टी कार्यालय में हुए एक कार्यक्रम में पार्टी में शामिल करने के लिए बनाई गई स्क्रीनिंग कमेटी के चेयरमैन एवं राज्य सभा सांसद नरेश बंसल और प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने उन्हें पार्टी का पटका पहनाकर स्वागत किया। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष कौशिक ने कहा कि पार्टी में एक प्रक्रिया के तहत आज कई जिलों में लोग भाजपा की रीति नीति और सिद्धांतों में विश्वास जताकर शामिल हो रहे हैं।
 
भाजपा कार्यकर्ता आधारित पार्टी है और मोदी जी के विकास के विजन से प्रभावित होकर आज विश्व की सबसे बड़ी पार्टी है। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यों में विश्वास करती हैं और कार्यों की समीक्षा जनता करती हैं। इस बार फिर पार्टी विकास और सेवा कार्यों के बदौलत मैदान में उतरेगी। इस मौके पर पार्टी महामंत्री कुलदीप कुमार, सुरेश भट्ट मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान, विनोद सुयाल भी मौजूद रहे। ये पूर्व पदाधिकारी व कार्यकर्ता शामिल हुएपार्टी में चंपावत से गोविंद सिंह सामंत के नेतृत्व में चंपावत के ब्लॉक प्रमुख पति वीरेंद्र सिंह, प्रकाश बोरा, संजय रावत, बलवंत सिंह धामी, लक्ष्मण सिंह बोरा, त्रिलोक कुमार, गिरीश खर्कवाल, पुराण सिंह बोरा, मदन सिंह सामंत, कमल बिष्ट, सचिन जोशी, राकेश बोर शामिल हुए। वहीं चंपावत जिला कार्यालय में 20 क्षेत्र पंचायत सदस्यों व 14 ग्राम प्रधानों ने भाजपा की सदस्यता ली है। इसके अलावा रामनगर से पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष (ओबीसी मोर्चा) ममता गोस्वामी, पूर्व जिला उपाध्यक्ष जगमोहन बिष्ट, क्षेत्र पंचायत सदस्य श्वेता बिष्ट व अल्मोड़ा से कल्पना बोरा भाजपा में शामिल हुईं। पौड़ी से संजय गौड़ ने भाजपा की सदस्यता ली।

विस्तार

उत्तराखंड की सियासी हवाओं में तैर रही दलबदल की अटकलों के बीच उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा की देहरादून में एंट्री ने सियासत तेज कर दी। प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद से लगभग नेपथ्य में रहे बहुगुणा दिल्ली से अचानक देहरादून पहुंचे और उन्होंने कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत और सुबोध उनियाल समेत उन सभी नौ लोगों से बात की, जो कांग्रेस से बगावत कर भाजपा में शामिल हुए थे।

भाजपा में दलबदल की चर्चाएं थम नहीं रहीं
पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य और उनके विधायक बेटे की कांग्रेस में वापसी के बाद भाजपा में दलबदल की चर्चाएं थम नहीं रहीं हैं। अब कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत और भाजपा विधायक उमेश शर्मा काऊ के कांग्रेस में वापसी की अटकलें तैर रही हैं। इन कयासबाजियों से प्रदेश संगठन खासा असहज है। सूत्रों के मुताबिक, पार्टी केंद्रीय नेतृत्व ने इन अटकलों पर पूर्ण विराम लगाने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री बहुगुणा को मैदान में उतारा है। लंबे समय से तकरीबन उपेक्षित रहे बहुगुणा ने अपने साथियों से मुलाकात करने से पहले भाजपा प्रदेश कार्यालय का रुख किया। वहां उन्होंने प्रदेश महामंत्री संगठन अजेय कुमार से मुलाकात की।

उत्तराखंड चुनाव 2022: 30 अक्तूबर को देहरादून में जनसभा को संबोधित करेंगे अमित शाह, तैयारी में जुटा संगठन
 
ताजा राजनीतिक घटनाक्रम और चर्चाओं को लेकर दोनों नेताओं के बीच बातचीत हुई। इसके बाद बहुगुणा कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत के घर पहुंचे। इस दौरान कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल भी वहां पहुंचे। बहुगुणा ने कांग्रेस से बगावत कर भाजपा में शामिल हुए सभी विधायकों व नेताओं से बारी-बारी बात की। सूत्रों के मुताबिक, बहुगुणा ने सभी से धैर्यपूर्वक और उत्साह के साथ चुनावी तैयारी में जुटने का आह्वान किया। बकौल बहुगुणा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह देहरादून आ रहे हैं। मैंने उनके दौरे को लेकर संगठन महामंत्री से चर्चा की।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here