Uttarakhand : Corona Positive Patients Detected On Arogya Setu App In Sitarganj – Coronavirus Uttarakhand: आरोग्य सेतु एप पर ट्रेस हुआ कोरोना पॉजिटिव मरीज, ढूंढने में जुटा स्वास्थ्य विभाग

0
219


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, सितारगंज
Updated Wed, 06 May 2020 12:17 AM IST

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

उत्तराखंड के सितारगंज में मंगलवार को आरोग्य सेतु एप पर एक कोरोना पॉजिटिव मरीज ट्रेस हुआ है। मरीज के ट्रेस होने पर नगरवासियों में दहशत बनी हुई है। इससे स्वास्थ्य विभाग में भी हड़कंप मचा हुआ है। चिकित्साधीक्षक ने एप एजेंसी से ट्रेस हो रहे कोरोना पॉजिटिव की डिटेल मांगी है।मंगलवार को नगर में कोविड-19 से ग्रसित व्यक्ति की आरोग्य सेतु एप पर लोकेशन ट्रेस होने से एप यूजर्स में सनसनी फैल गई। एप पर कोरोना पॉजिटिव मरीज के ट्रेस होने के बाद स्वास्थ्य अधिकारियों के फोन भी घनघनाने लगे।चिकित्साधीक्षक डॉ. राजेश आर्या ने बताया कि एप पर शो होने वाले कोरोना पॉजिटिव को सर्च किया जा रहा है। एप एजेंसी के अधिकारियों से संपर्क कर एप पर शो होने वाले कोविड-19 से ग्रसित यूजर की डिटेल मांगी है। जैसे ही उसकी जानकारी मिल जाएगी तुरंत ही कोरोना संक्रमित को आइसोलेट किया जाएगा। इसके साथ ही जांच के बाद जरूरत पड़ी तो उसे हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा।
लॉकडाउन के दौरान दून में फंसे रुद्रप्रयाग, चमोली व उत्तरकाशी जनपद के 806 लोगों को मंगलवार को स्पोर्ट्स कॉलेज रायपुर से रवाना किया गया। परिवहन निगम की 27 बसों में छात्र, श्रमिक व अन्य कामों से आए लोगों को घर भेजा गया। डेढ़ महीने से ज्यादा समय से फंसे लोग घर रवाना होते हुए खुश नजर आए।इनमें रुद्रप्रयाग के 205, चमोली के 220 व उत्तरकाशी के 381 लोग शामिल हैं। रवाना होने से पहले सभी की मेडिकल जांच की गई। इसके बाद लोगों को सैनिटाइजेशन, मास्क पहनने व सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर जागरूक भी किया।1500 लोग रुद्रप्रयाग भेजे जाएंगे आजपुलिस अधीक्षक प्रकाश चंद्र आर्य ने बताया कि जिले में दूसरे जनपद के फंसे लोगों को उनके घर भेजने का कार्य तेजी से किया जा रहा है। इस कड़ी में बुधवार को 1500 लोगों को रुद्रप्रयाग के लिए रवाना किया जाएगा। यह क्रम लगातार जारी रहेगा।अन्य राज्यों से आए प्रवासियों को भेज घरमंगलवार को कई राज्यों से आए जिले के 95 प्रवासियों को भी घर भेजा गया। घर भेजने से पहले उनकी स्वास्थ्य जांच (थर्मल स्क्रीनिंग) की गई। रिपोर्ट सामान्य आने पर उन्हें घर भेजा। साथ ही होम क्वारंटीन रहने को भी कहा। कई लोगों को जागरूकता संबंधी प्रशिक्षण भी दिया।घर जाते समय छलका दर्ददून में फंसे रुद्रप्रयाग के जखोली ब्लॉक के रामकिशन प्रसाद ने कहा कि वह यहां होटल में काम करते हैं। लॉकडाउन में काम बंद हो गया। जेब में पैसे भी नहीं रहे। तंगी में दिन बिताने पड़े।

सार
स्वास्थ्य विभाग जांच में जुटा, एप एजेंसी से मांगी यूजर की डिटेल

विस्तार
उत्तराखंड के सितारगंज में मंगलवार को आरोग्य सेतु एप पर एक कोरोना पॉजिटिव मरीज ट्रेस हुआ है। मरीज के ट्रेस होने पर नगरवासियों में दहशत बनी हुई है। इससे स्वास्थ्य विभाग में भी हड़कंप मचा हुआ है। चिकित्साधीक्षक ने एप एजेंसी से ट्रेस हो रहे कोरोना पॉजिटिव की डिटेल मांगी है।

मंगलवार को नगर में कोविड-19 से ग्रसित व्यक्ति की आरोग्य सेतु एप पर लोकेशन ट्रेस होने से एप यूजर्स में सनसनी फैल गई। एप पर कोरोना पॉजिटिव मरीज के ट्रेस होने के बाद स्वास्थ्य अधिकारियों के फोन भी घनघनाने लगे।

चिकित्साधीक्षक डॉ. राजेश आर्या ने बताया कि एप पर शो होने वाले कोरोना पॉजिटिव को सर्च किया जा रहा है। एप एजेंसी के अधिकारियों से संपर्क कर एप पर शो होने वाले कोविड-19 से ग्रसित यूजर की डिटेल मांगी है। जैसे ही उसकी जानकारी मिल जाएगी तुरंत ही कोरोना संक्रमित को आइसोलेट किया जाएगा। इसके साथ ही जांच के बाद जरूरत पड़ी तो उसे हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा।

रुद्रप्रयाग, चमोली, उत्तरकाशी के 806 लोग घर भेजे

लॉकडाउन के दौरान दून में फंसे रुद्रप्रयाग, चमोली व उत्तरकाशी जनपद के 806 लोगों को मंगलवार को स्पोर्ट्स कॉलेज रायपुर से रवाना किया गया। परिवहन निगम की 27 बसों में छात्र, श्रमिक व अन्य कामों से आए लोगों को घर भेजा गया। डेढ़ महीने से ज्यादा समय से फंसे लोग घर रवाना होते हुए खुश नजर आए।इनमें रुद्रप्रयाग के 205, चमोली के 220 व उत्तरकाशी के 381 लोग शामिल हैं। रवाना होने से पहले सभी की मेडिकल जांच की गई। इसके बाद लोगों को सैनिटाइजेशन, मास्क पहनने व सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर जागरूक भी किया।1500 लोग रुद्रप्रयाग भेजे जाएंगे आजपुलिस अधीक्षक प्रकाश चंद्र आर्य ने बताया कि जिले में दूसरे जनपद के फंसे लोगों को उनके घर भेजने का कार्य तेजी से किया जा रहा है। इस कड़ी में बुधवार को 1500 लोगों को रुद्रप्रयाग के लिए रवाना किया जाएगा। यह क्रम लगातार जारी रहेगा।अन्य राज्यों से आए प्रवासियों को भेज घरमंगलवार को कई राज्यों से आए जिले के 95 प्रवासियों को भी घर भेजा गया। घर भेजने से पहले उनकी स्वास्थ्य जांच (थर्मल स्क्रीनिंग) की गई। रिपोर्ट सामान्य आने पर उन्हें घर भेजा। साथ ही होम क्वारंटीन रहने को भी कहा। कई लोगों को जागरूकता संबंधी प्रशिक्षण भी दिया।घर जाते समय छलका दर्ददून में फंसे रुद्रप्रयाग के जखोली ब्लॉक के रामकिशन प्रसाद ने कहा कि वह यहां होटल में काम करते हैं। लॉकडाउन में काम बंद हो गया। जेब में पैसे भी नहीं रहे। तंगी में दिन बिताने पड़े।

आगे पढ़ें

रुद्रप्रयाग, चमोली, उत्तरकाशी के 806 लोग घर भेजे



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here