One More Corona Case In Dehradun

0
27


ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

उत्तराखंड में बुधवार को बाहरी राज्यों से लौटे तीन और लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। प्रदेश में अब कोरोना संक्रमितों की संख्या 72 हो गई है। जबकि 46 मरीज ठीक हो चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार बुधवार को 410 सैंपल की जांच  रिपोर्ट आई है। इसमें 407 सैंपल निगेटिव मिले हैं। देहरादून के छह नंबर पुलिया स्थित आदर्श कॉलोनी की रहने वाली एक महिला में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है।52 वर्षीय संक्रमित महिला अक्तूबर 2019 में पथरी का इलाज कराने के लिए अपनी बेटी के पास दिल्ली गई थी। 20 मार्च को दिल्ली के एक अस्पताल में पथरी का इलाज होने के बाद महिला को डिस्चार्ज  किया गया था। लेकिन लॉकडाउन के चलते वह वापस नहीं लौट पाई और बेटी के यहां ही रही। गत दिवस दिल्ली से देहरादून लौटते समय आशारोड़ी चेक पोस्ट पर चेकिंग के दौरान संदिग्ध लक्षण महसूस होने पर महिला का सैंपल जांच के लिए भेजा। दून मेडिकल कॉलेज लैब से आई रिपोर्ट के अनुसार महिला में संक्रमण पाया गया है। महिला को ऋषिकेश एम्स में भर्ती करा दिया गया है।Lockdwon 3.0 : अल्मोड़ा और रानीखेत में दस लोग आइसोलेट, जांच रिपोर्ट का इंतजारवहीं, दूसरी ओर अल्मोड़ा के रानीखेत निवासी 27 वर्षीय युुवक में संक्रमण की पुष्टि हुई है। गुरुग्राम से रानीखेत लौटे युवक में भी कोरोना के संदिग्ध लक्षण दिखे थे। उसका सैंपल जांच के लिए हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज भेजा गया था। जांच रिपोर्ट में उसका सैंपल भी पॉजिटिव पाया गया है। जबकि बुधवार को ही अमरावती से नैनीताल लौटा युवक भी संक्रति मिला है।  अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने बताया कि संक्रमित तीनों लोगों के संपर्क में आए लोगों का पता लगाकर उन्हें क्वारंटीन किया जा रहा है। 
अल्मोड़ा जिले में दूसरा कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद एक बार फिर से हड़कंप मच गया। रानीखेत में ही पांच अप्रैल को एक जमाती कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। प्रशासन की टीम पॉजिटिव युवक से पूछताछ में जुटी हुई है। वहीं, सामने आया है कि पॉजिटिव युवक जिस बस में सवार था, वह सवारियों से खचाखच भरी थी। अब प्रशासन बस में सवार लोगों की खोजबीन में जुट गई है।पॉजिटिव युवक के संपर्क में आने चार व्यक्तियों को पूर्व में ही क्वारंटीन किया गया था। इसके अलावा उक्त पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आने वाले अन्य व्यक्तियों की पहचान की जा रही है जिसके बाद उन्हें भी क्वारंटीन किया जाएगा।-नितिन भदौरिया, जिलाधिकारी अल्मोड़ा।जिलेवार संक्रमित मामलेजिला         संक्रमित          ठीक हुए मरीजदेहरादून         36                  26हरिद्वार           07                 05नैनीताल          12                09यूएसनगर        13                04पौड़ी                01                01अल्मोड़ा          02                 01उत्तरकाशी         01              00
अल्मोड़ा से जांच के लिए भेजे गए 10 लोगों के सैम्पलों की रिपोर्ट दो दिन से नहीं आई है। अब इनकी रिपोर्ट आज शाम तक मिल जाने की उम्मीद है। इन लोगों में आठ को अल्मोड़ा के बेस अस्पताल और दो को रानीखेत के नागरिक अस्पताल में आइसोलेट किया गया है।बताया गया है कि यह सभी लोग हाल ही में दिल्ली से लौटे हैं। इनके शारीरिक लक्षणो को देखते हुए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने सोमवार को इन लोगों के सैंपल जांच के लिए हल्द्वानी भेजे हैं। जिसकी रिपोर्ट आनी बांकी है।
प्रदेश में 18 हजार से ज्यादा लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव का प्रशिक्षण दे चुके एसडीआरएफ ने अब नया मोबाइल एप तैयार किया है। अब इस नए ‘कोरोना वॉरियर एप’ से ट्रेेनिंग दी जाएगी। इसका बुधवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने विमोचन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रवासियों को अपने प्रदेश वापस पहुंचाने की प्रक्रिया को बेहतर तरीके से अमल में लाया जा रहा है।सचिवालय स्थित वीर चंद्र सिंह गढ़वाली सभागार में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अंतर राज्यस्तरीय कोविड-19 कंट्रोल रूम में अब तक राज्य में लाए गए प्रवासियों की संख्या और बाहर जाने वाले लोगों की जानकारी ली। इस दौरान मुख्यमंत्री ने भविष्य की कार्ययोजना, कंट्रोल रूम की कार्यप्रणाली, उपलब्धियां, समस्याएं, सुझाव आदि पर संबंधित अधिकारियों से चर्चा की।उन्होंने एसडीआरएफ के विभिन्न्न विभागों को दी गई ट्रेनिंग की भी जानकारी ली। साथ ही सफाई कर्मचारी, पुलिस, आंगनबाड़ी कार्यकर्त्ता, वाहन चालक आदि के प्रशिक्षण को बनाए गए ‘कोरोना वॉरियर एप’ का विमोचन किया। एसडीआरएफ के निरीक्षक वेद प्रकाश भट्ट, अनूप रमोला, उमराव सिंह, रेखा नेगी, अमन सिंह को सम्मानित किया। एसडीआरएफ के सेनानायक तृप्ति भट्ट ने बताया कि अब तक 18 हजार से अधिक कर्मियों और लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव संबंधी प्रशिक्षण दिया जा चुका है। इस दौरान परिवहन सचिव शैलेश बगोली, आईजी कुंभ संजय गुंज्याल, डीआईजी मुख्तार मोहसिन, राजीव स्वरूप, एसपी रेलवे टीसी मंजूनाथ आदि मौजूद रहे।

उत्तराखंड में बुधवार को बाहरी राज्यों से लौटे तीन और लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। प्रदेश में अब कोरोना संक्रमितों की संख्या 72 हो गई है। जबकि 46 मरीज ठीक हो चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार बुधवार को 410 सैंपल की जांच  रिपोर्ट आई है। इसमें 407 सैंपल निगेटिव मिले हैं। देहरादून के छह नंबर पुलिया स्थित आदर्श कॉलोनी की रहने वाली एक महिला में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है।

52 वर्षीय संक्रमित महिला अक्तूबर 2019 में पथरी का इलाज कराने के लिए अपनी बेटी के पास दिल्ली गई थी। 20 मार्च को दिल्ली के एक अस्पताल में पथरी का इलाज होने के बाद महिला को डिस्चार्ज  किया गया था। लेकिन लॉकडाउन के चलते वह वापस नहीं लौट पाई और बेटी के यहां ही रही। गत दिवस दिल्ली से देहरादून लौटते समय आशारोड़ी चेक पोस्ट पर चेकिंग के दौरान संदिग्ध लक्षण महसूस होने पर महिला का सैंपल जांच के लिए भेजा। दून मेडिकल कॉलेज लैब से आई रिपोर्ट के अनुसार महिला में संक्रमण पाया गया है। महिला को ऋषिकेश एम्स में भर्ती करा दिया गया है।
Lockdwon 3.0 : अल्मोड़ा और रानीखेत में दस लोग आइसोलेट, जांच रिपोर्ट का इंतजार

वहीं, दूसरी ओर अल्मोड़ा के रानीखेत निवासी 27 वर्षीय युुवक में संक्रमण की पुष्टि हुई है। गुरुग्राम से रानीखेत लौटे युवक में भी कोरोना के संदिग्ध लक्षण दिखे थे। उसका सैंपल जांच के लिए हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज भेजा गया था। जांच रिपोर्ट में उसका सैंपल भी पॉजिटिव पाया गया है। जबकि बुधवार को ही अमरावती से नैनीताल लौटा युवक भी संक्रति मिला है।  अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने बताया कि संक्रमित तीनों लोगों के संपर्क में आए लोगों का पता लगाकर उन्हें क्वारंटीन किया जा रहा है।
 

प्रवासियों से खचाखच भरी बस में आया था अल्मोड़ा का संक्रमित युवक

अल्मोड़ा जिले में दूसरा कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद एक बार फिर से हड़कंप मच गया। रानीखेत में ही पांच अप्रैल को एक जमाती कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। प्रशासन की टीम पॉजिटिव युवक से पूछताछ में जुटी हुई है। वहीं, सामने आया है कि पॉजिटिव युवक जिस बस में सवार था, वह सवारियों से खचाखच भरी थी। अब प्रशासन बस में सवार लोगों की खोजबीन में जुट गई है।पॉजिटिव युवक के संपर्क में आने चार व्यक्तियों को पूर्व में ही क्वारंटीन किया गया था। इसके अलावा उक्त पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आने वाले अन्य व्यक्तियों की पहचान की जा रही है जिसके बाद उन्हें भी क्वारंटीन किया जाएगा।-नितिन भदौरिया, जिलाधिकारी अल्मोड़ा।जिलेवार संक्रमित मामलेजिला         संक्रमित          ठीक हुए मरीजदेहरादून         36                  26हरिद्वार           07                 05नैनीताल          12                09यूएसनगर        13                04पौड़ी                01                01अल्मोड़ा          02                 01उत्तरकाशी         01              00

अल्मोड़ा और रानीखेत में दस लोग आइसोलेट,

अल्मोड़ा से जांच के लिए भेजे गए 10 लोगों के सैम्पलों की रिपोर्ट दो दिन से नहीं आई है। अब इनकी रिपोर्ट आज शाम तक मिल जाने की उम्मीद है। इन लोगों में आठ को अल्मोड़ा के बेस अस्पताल और दो को रानीखेत के नागरिक अस्पताल में आइसोलेट किया गया है।बताया गया है कि यह सभी लोग हाल ही में दिल्ली से लौटे हैं। इनके शारीरिक लक्षणो को देखते हुए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने सोमवार को इन लोगों के सैंपल जांच के लिए हल्द्वानी भेजे हैं। जिसकी रिपोर्ट आनी बांकी है।

अब कोरोना वॉरियर एप से होगी ट्रेनिंग

प्रदेश में 18 हजार से ज्यादा लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव का प्रशिक्षण दे चुके एसडीआरएफ ने अब नया मोबाइल एप तैयार किया है। अब इस नए ‘कोरोना वॉरियर एप’ से ट्रेेनिंग दी जाएगी। इसका बुधवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने विमोचन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रवासियों को अपने प्रदेश वापस पहुंचाने की प्रक्रिया को बेहतर तरीके से अमल में लाया जा रहा है।सचिवालय स्थित वीर चंद्र सिंह गढ़वाली सभागार में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अंतर राज्यस्तरीय कोविड-19 कंट्रोल रूम में अब तक राज्य में लाए गए प्रवासियों की संख्या और बाहर जाने वाले लोगों की जानकारी ली। इस दौरान मुख्यमंत्री ने भविष्य की कार्ययोजना, कंट्रोल रूम की कार्यप्रणाली, उपलब्धियां, समस्याएं, सुझाव आदि पर संबंधित अधिकारियों से चर्चा की।उन्होंने एसडीआरएफ के विभिन्न्न विभागों को दी गई ट्रेनिंग की भी जानकारी ली। साथ ही सफाई कर्मचारी, पुलिस, आंगनबाड़ी कार्यकर्त्ता, वाहन चालक आदि के प्रशिक्षण को बनाए गए ‘कोरोना वॉरियर एप’ का विमोचन किया। एसडीआरएफ के निरीक्षक वेद प्रकाश भट्ट, अनूप रमोला, उमराव सिंह, रेखा नेगी, अमन सिंह को सम्मानित किया। एसडीआरएफ के सेनानायक तृप्ति भट्ट ने बताया कि अब तक 18 हजार से अधिक कर्मियों और लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव संबंधी प्रशिक्षण दिया जा चुका है। इस दौरान परिवहन सचिव शैलेश बगोली, आईजी कुंभ संजय गुंज्याल, डीआईजी मुख्तार मोहसिन, राजीव स्वरूप, एसपी रेलवे टीसी मंजूनाथ आदि मौजूद रहे।

आगे पढ़ें

प्रवासियों से खचाखच भरी बस में आया था अल्मोड़ा का संक्रमित युवक



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here