Lake Will Be Built In Corbett Tiger Reserve Pakhro Range, Tourists Can Be Do Boating – कॉर्बेट टाइगर रिजर्व की पाखरो रेंज में बनेगी झील, पर्यटक उठा सकेंगे बोटिंग का लुत्फ

0
33


जीवन कुमार, अमर उजाला, रामनगर (नैनीताल)
Updated Sat, 25 Jul 2020 12:47 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर कहीं भी, कभी भी।
*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

कॉर्बेट टाइगर रिजर्व के कालागढ़ टाइगर डिविजन के पाखरो पर्यटन जोन को विकसित करने की कवायद चल रही है। रामगंगा नदी की तर्ज पर पाखरो में एक झील तैयार की जाएगी, जिसमें पर्यटक आगामी समय में बोटिंग का लुत्फ भी उठा सकेंगे। सीटीआर के अधिकारी इस योजना पर काम में जुट गए हैं। 21 जुलाई को कॉर्बेट फांउडेशन की बैठक कोटद्वार में हुई। बैठक में वन मंत्री हरक सिंह रावत की ओर से पाखरो पर्यटन जोन को विकसित करने पर जोर दिया। बताया कि जिस तरह कालागढ़ से ढिकाला तक रामगंगा नदी को झील का रूप दिया, उसी तर्ज पर पाखरो में भी झील बनाने की योजना है।पाखरो में छोटी-बड़ी नदियों के पानी को एकत्र कर झील तैयार की जा रही है। इस झील में आगामी समय में पर्यटक बोटिंग भी करेंगे। पाखरो को आकर्षक पर्यटक स्थल बनाने की कवायद चल रही है ताकि कॉर्बेट में पाखरो जोन भी पर्यटकों को लुभा सकें।
पाखरो पर्यटन जोन में सोना नदी स्रोत, जसोद, पाखरो, धौलखंड, चपड़ा, सुआ नदी-नालों के पानी को एकत्र किया जा रहा है। पाखरो को पर्यटक स्थल बनाने के पीछे स्थानीय युवाओं को रोजगार देने की मंशा भी है।  21 जुलाई को कोटद्वार में हुई कॉर्बेट फाउंडेशन की बैठक में वन मंत्री की ओर से पाखरो पर्यटन जोन को विकसित करने के लिए कहा गया है। पाखरो पर्यटन जोन में झील बनाने की योजना है, जिसमें पर्यटन बोटिंग कर सकेंगे। इस जोन के विकसित होने से वहां के स्थानीय युवाओं को रोजगार भी मिलेगा। – राहुल, निदेशक कॉर्बेट टाइगर रिजर्व

सार
बेहतर पर्यटन जोन बनाने की कवायद शुरू

विस्तार
कॉर्बेट टाइगर रिजर्व के कालागढ़ टाइगर डिविजन के पाखरो पर्यटन जोन को विकसित करने की कवायद चल रही है। रामगंगा नदी की तर्ज पर पाखरो में एक झील तैयार की जाएगी, जिसमें पर्यटक आगामी समय में बोटिंग का लुत्फ भी उठा सकेंगे। सीटीआर के अधिकारी इस योजना पर काम में जुट गए हैं। 

21 जुलाई को कॉर्बेट फांउडेशन की बैठक कोटद्वार में हुई। बैठक में वन मंत्री हरक सिंह रावत की ओर से पाखरो पर्यटन जोन को विकसित करने पर जोर दिया। बताया कि जिस तरह कालागढ़ से ढिकाला तक रामगंगा नदी को झील का रूप दिया, उसी तर्ज पर पाखरो में भी झील बनाने की योजना है।

पाखरो में छोटी-बड़ी नदियों के पानी को एकत्र कर झील तैयार की जा रही है। इस झील में आगामी समय में पर्यटक बोटिंग भी करेंगे। पाखरो को आकर्षक पर्यटक स्थल बनाने की कवायद चल रही है ताकि कॉर्बेट में पाखरो जोन भी पर्यटकों को लुभा सकें।

इन नदी-नालों से तैयार की जाएगी झील

पाखरो पर्यटन जोन में सोना नदी स्रोत, जसोद, पाखरो, धौलखंड, चपड़ा, सुआ नदी-नालों के पानी को एकत्र किया जा रहा है। पाखरो को पर्यटक स्थल बनाने के पीछे स्थानीय युवाओं को रोजगार देने की मंशा भी है।  21 जुलाई को कोटद्वार में हुई कॉर्बेट फाउंडेशन की बैठक में वन मंत्री की ओर से पाखरो पर्यटन जोन को विकसित करने के लिए कहा गया है। पाखरो पर्यटन जोन में झील बनाने की योजना है, जिसमें पर्यटन बोटिंग कर सकेंगे। इस जोन के विकसित होने से वहां के स्थानीय युवाओं को रोजगार भी मिलेगा। – राहुल, निदेशक कॉर्बेट टाइगर रिजर्व

आगे पढ़ें

इन नदी-नालों से तैयार की जाएगी झील



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here